भोपाल

भोपाल / अचानक बदला मौसम का मिजाज, राजधानी के कई इलाकों में झमाझम बारिश

भोपाल

भोपाल। राजधानी भोपाल सहित पूरे संभाग में मंगलवार सुबह मौसम का मिजाज अचानक बदल गया। कई इलाकों में करीब आधा घंटे तक झमाझम बारिश हुई। वहीं कुछ इलाकों में बूंदाबांदी हुई। बारिश के साथ चली हल्की हवाओं से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। इस दौरान दृश्यता 800 मीटर रह गई। दोपहर तक राजधानी में 5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। 

सोमवार को तापमान बढ़ने से राजधानीवासी सर्दी से थोड़ी राहत महसूस कर रहे थे। मंगलवार सुबह सुबह करीब आठ बजे तक मौसम का मिजाज सोमवार जैसा ही बना हुआ था। लेकिन अचानक मौसम का मिजाज बदला और आसमान पर घने बादल छा गए। इसी के साथ कई इलाकों में झमाझम बारिश शुरु हो गई। बैरागढ़ सहित पुराने भोपाल एमपी नगर, आनंद नगर में करीब आधा घंटे तक तेज बारिश हुई। वहीं नए भोपाल में हल्की बूंदाबांदी हुई। थोड़ी ही देर बाद धूप निकल आई।

मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि आज भोपाल सहित इंदौर, उज्जैन, दतिया और ग्वालियर में भी कोहरा छाया रहा तथा बाद में बौछारे भी पड़ी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में दिनभर मौसम ऐसा ही रहने का अनुमान है। कल भी हल्की वर्षा हो सकती है। कल पूर्वी मध्यप्रदेश में भी बारिश होने का अनुमान है। 

प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस बैतूल में रिकार्ड हुआ। भोपाल में भी रात का पारा 14.6 डिग्री पर टिका रहा। यह सामान्य से चार डिग्री ज्यादा है। बादलों की वजह से दिन का पारा कल की अपेक्षा कुछ नीचे गिर सकता है। अगले चौबीस घंटों में भोपाल संभाग के जिलों में तथा गुना, अशोकनगर, खंडवा, खरगोन ,धार, इंदौर उज्जैन एवं देवास जिलों में कहीं कहीं गरज चमक के साथ हल्की वर्षा तथा ग्वालियर, चंबल एवं सागर संभागों के जिलों और इंदौर, उज्जैन,रतलाम एवं शाजापुर के जिलों में मध्यम से घना कोहरा भी रह सकता है।

सोमवार को 28 डिग्री पर पहुंचा था पारा

सोमवार को हवा का रुख बदलते ही शहर में मौसम के तेवर भी बदल गए थे। दिन के तापमान में 2.3 और रात के तापमान में 2.4 डिग्री का इजाफा हुआ था। शहर में 44 दिन बाद दिन का तापमान 28 डिग्री पार पहुंच गया। इससे पहले 30 नवंबर को दिन का तापमान 28.9 डिग्री दर्ज किया गया था। दिन में बिलकुल ठंडक नहीं थी। धूप चटकने से पारे की चाल भी तेज थी। हालात यह थे कि सुबह 8:30 से 11:30 बजे तक तीन घंटे में ही तापमान 12 डिग्री बढ़ गया था। दिन का तापमान 28.4 डिग्री दर्ज किया गया।

इसलिए बढ़ा तापमान.. वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला के मुताबिक विदर्भ के पास प्रति चक्रवात बन गया है। इसके कारण हवा का रुख दक्षिणी हो गया है। इसे नमी भी नहीं मिल रही है। उत्तर से हवा अाना रुक गई है। इस वजह से तापमान में भी इजाफा हुआ।