ग्वालियर

ग्वालियर / विजयाराजे सिंधिया की पुण्यतिथि कार्यक्रम में शिवराज ने गाया भजन, ज्योतिरादित्य के बेटे से भी मिले

ग्वालियर

ग्वालियर. विजयाराजे सिंधिया की 19वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम में ग्वालियर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री की मुलाकात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे महाआर्यमन से भी हुई। दोनों ने एक दूसरे का अभिवादन किया। इससे पहले श्रद्धांजलि कार्यक्रम में शिवराज ने विजयाराजे सिंधिया को स्मरण करते हुए वो भजन भी सुनाया जो उन्होंने सालों पहले विजयाराजे को सुनाया था। शिवराज सिंह भजन गा रहे थे उस दौरान महाआर्यमन भी ताली बजा उनका साथ देते रहे।

राजमाता सिंधिया की पुण्यतिथि पर भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश में कई जगह पर श्रद्धांजलि सभा आयोजित की है। मुख्य कार्यक्रम ग्वालियर में विजियाराजे सिंधिया की छत्री पर आयोजित किया गया। इसमें शिवराज सिंह भी राजमाता को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। छत्री पर आयोजित कार्यक्रम में राजामाता की छोटी बेटी यशोधरा राजे और ज्योतिरादित्य के बेटे आर्यमन भी पहुंचे। 

इस मौके पर शिवराज सिंह चौहान ने राजमाता से जुड़े संस्मरण सुनाते हुए कहा कि उन्होंने राजपथ से जनपथ का रास्ता अपनाया। उनका जीवन हमारे लिए प्रेरणास्पद है। आज भाजपा जिस स्थिति में है उसकी नीव राजमाता ने ही रखी। शिवराज ने कहा कि जब वे बहुत छोटे थे उस समय होशंगाबाद में बाढ़ आई हुई थी। सरकार की मदद भी नहीं मिल रही थी। ऐसे कठिन दौर में राजमाता बाढ़ पीढ़ितों के लिए राहत सामग्री लेकर पहुंची थी। उन्होंन तब पहलीबार राजमाता को देखा था। शिवराज सिंह ने इस मौके पर वही भजन गाया जो उन्होंने सालों पहले राजमाता विजयाराजे सिंधिया को सुनाया था।