none

जेएनयू हिंसा / विरोध में उतरे बी टाउन सेलेब्स, वरुण धवन बोले- ऐसी घटनाओं पर हम सामान्य नहीं रह सकते

none

बॉलीवुड डेस्क. जवाहर लाल यूनिवर्सिटी में जारी हिंसा के मामले पर बॉलीवुड सेलेब्स काफी सक्रिय नजर आ रहे हैं। सुनील शेट्टी, वरुण धवन समेत कई सितारे मामले के विरोध में खुलकर सामने आ रहे हैं। ट्विंकल खन्ना ने कहा कि, भारत ऐसा देश है जहां गाय को छात्रों से ज्यादा सुरक्षा मिलती है। गौरतलब है कि दीपिका पादुकोण ने हिंसा के विरोध में जेएनयू पहुंचकर छात्रों से मुलाकात की। आलिया भट्ट, वीर दास, रिचा चड्ढा जैसे कई सेलेब्स लगातार जेएनयू में जारी विवाद पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। 

सोशल मीडिया पर सेलेब्स जता रहे नाराजगी

हम इस तरह की घटनाओं पर सामान्य नहीं रह सकते: वरुण धवन

अपनी आगामी फिल्म 'स्ट्रीट डांसर' का प्रमोशन करने मध्य प्रदेश पहुंचे वरुण ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि 'हम इस तरह की घटनाओं पर सामान्य नहीं रह सकते हैं, हमें हमले का विरोध करना होगा।' उन्होंने कहा कि यह बहुत खतरनाक है कि इस तरह से नकाबपोश लोग संस्था में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़ करते हैं। अंग्रेजी वेबसाइट इंडिया टुडे के अनुसार जब वरुण से अनुराग कश्यप को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि 'मैं अपनी फिल्म प्रमोशन में व्यस्त हूं और मैंने अब तक इन लोगों के बयान नहीं पढ़े हैं।' एक्टर अर्जुन कपूर ने भी मामले को लेकर विरोध जताया है।

हंसल मेहता ने की सेलेब्स से बोलने की अपील

फिल्ममेकर हंसल मेहता ने बी टाउन सेलेब्स से मामले पर बोलने की अपील की। हंसल लिखते हैं कि  'प्यारे सेलेब्स, सभी समझते हैं कि सार्वजनिक तौर पर कुछ भी बोलना आपके करियर के लिए काफी खतरनाक हो सकता है। लेकिन याद रखें कि जो लोग आपके दर्शक हैं वे खुलकर बोल रहे हैं और आपका बोलना मायने रखता है।' एक्ट्रेस सोनम कपूर ने भी हंसल का समर्थन किया है। 

अभी और प्रदर्शन होगा, और ज्यादा लोग सड़कों पर उतरेंगे: ट्विंकल खन्ना

एक्ट्रेस और राइटर ट्विंकल खन्ना ने कहा कि 'भारत ऐसा देश जहां गाय को छात्रों से ज्यादा सुरक्षा प्राप्त होती है।' ट्विंकल ने लिखा कि आप लोगों को हिंसा से नहीं दबा सकते, अब और हड़ताल और प्रदर्शन होगा, पहले से ज्यादा लोग सड़कों पर पहुंचेंगे। तापसी पन्नु ने कहा कि बड़ी ताकत के साथ बड़ी जिम्मेदारी भी आती है और मैं इससे दूर नहीं होना चाहती। जेएनयू हमारा समर्थन और प्यार आपके साथ है। 

शिक्षा के मंदिर में घुसकर बच्चों को मारने का हक किसी को नहीं: सुनील शेट्टी

अंग्रेजी वेबसाइट स्पॉटबॉय को दिए इंटरव्यू में सुनील शेट्टी ने कहा कि 'मैं हिंदू, मुस्लि, सिख, ईसाइ हो सकता हूं। मैं बीजेपी, कॉन्ग्रेस, शिव सेना, एनसीपी और किसी भी पार्टी से हो सकता हूं, लेकिन मुझे यह कोई हक नहीं है कि शिक्षा के मंदिर में जाकर बच्चों के साथ मारपीट करूं।' एक्टर ने कहा कि,  मास्क पहनकर आते हो और अपने आप को मर्द कहते हो, अगर मर्द हो तो खुलेआम घूमना चाहिए ना। यह गलत है, चाहे किसी भी पार्टी ने किया हो।