राजगढ़

आबकारी विभाग ठेकेदार के कर्मचारी कर रहे मनमानी।

राजगढ़

खिलचीपुर   जिला राजगढ़ आबकारी विभाग अधिकारी प्रशासन की निगाह में अवैध शराब बेचने वालों पर तो कार्रवाई कर रहे हैं, लेकिन वहीं दूसरी ओर लाइसेंस धारी शराब ठेकेदार की दादागिरी मनमानी चल रही है ,इन शराब ठेकेदारों के खिलाफ आज तक कोई कार्यवाही क्यों नहीं की गई है ,यह शराब ठेकेदार ही अवैध शराब बेचने वालों को पकड़ा रहे हैं और खुद अवैध कारोबार कर रहे हैं, नगर में शराब दारू कि दुकान के ठेकेदार और आबकारी विभाग अधिकारी की मनमानी चल रही है, आए दिन शराब दुकान के सामने आम रास्ते पर लड़ाई झगड़े होते रहते हैं यहां से गुजरने वाली महिलाओं को भी काफी परेशानी का सामना करना पढ़ रहा है, नगर में शराब की दुकान सवेरे 6 बजे खुल जाती है, जबकि नियम के अनुसार 8  बजे दुकान खोलना चाहिए ,और रात को 12 बजे दुकान बंद होती है, दुकान बंद होने का समय 11  बजे है ,और एक क्वार्टर सफेद वाला  60  रुपये का है जिसकी रेट क्वार्टर पर 60 रुपया लिखी हुई है ,जिसको यह 75 रुपये में बेच रहे हैं, और अंग्रेजी शराब दुकान पर भी प्रिंट रेट से ज्यादा ले रहे हैं 27 तारीख को जिला आबकारी अधिकारी वीरेंद्र सिंह जी को अवगत करा दिया था ,की नगर के अंदर शराब की दुकानों वाले रेट ज्यादा ले रहे हैं, फिर भी जिला आबकारी अधिकारी वीरेंद्र सिंह जी की तरफ से आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई, और कहीं जगह बिना लाइसेंस के अवैध ठेके चल रहे हैं ,आबकारी विभाग वाले अधिकारी कुंभकरण की नींद सो रहे हैं ,जिला आबकारी अधिकारी वीरेंद्र सिंह जी फोन भी नहीं उठाते हैं, वह शराब की दुकानों को चेक करने भी नहीं आते हैं ,प्रशासन को सख्ती बरतनी चाहिए जिस जगह शराब की दुकान नगर के अंदर स्थित है ,उन शराब की दुकानों को नगर से बाहर कर देना चाहिए जिससे नगर की जनता  माता बहनों का डर दूर हो सके, प्रशासन को इन लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए,