बिलासपुर

कार्रवाई / चोरी के गहने बेचने के लिए ग्राहक तलाश रहे मां-बेटे सहित दो खरीदार गिरफ्तार, कई वारदातों का खुलासा

बिलासपुर

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में चोरी के गहने बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे मां-बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों से चोरी की कई वारदातों का खुलासा हुआ। दोनों आरोपी चोरी के गहनों को अपने रिश्तेदारों को बेच देते थे। पुलिस ने इस मामले में दो खरीदारों को भी गिरफ्तार किया है। आरोपियों से पुलिस ने सोने-चांदी के आभूषण, मोबाइल, बाइक, 5 हजार रुपए समेत करीब 6 लाख का सामान बरामद किया है। मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है। 

जानकारी के मुताबिक, सरकंडा थानाा पुलिस को सूचना मिली कि मोपका निवासी दीपक डहरिया और उसकी मां चंपाबाई सोने-चांदी के गहने बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे हैं। संदेह होने पर पुलिस ने दोनों को थाने बुलाया। पूछताछ में पता चला कि अक्टूबर व नवंबर में दोनोंे ने ही उनकी ही कॉलोनी में रहने वाली गीता शर्मा मकान में चोरी की थी। चोरी के सामान को आरोपियों ने अपने रिश्तेदार संत कुमार टंडन व अशोक सूर्यवंशी को बेचा था। 
 

चोरी के पैसे से मां-बेटे ने एक बाइक खरीद ली। बचे हुए जेवरात भी दोनों बेचने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन इसी बीच पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पूछताछ में यह भी पता चला कि दीपक डहरिया ने 9 मार्च को रामकृष्ण कॉलोनी में चोरी की। वहां मिले गहनों को उसने मोपका कुटी पारा रोड के पास एक नर्सरी में गड्ढा खोदकर दबा दिया था।  पुलिस ने उसे बरामद कर लिया है। वहीं खरीदार घोंघाडीह गनियारी कोटा निवासी संत कुमार टंडन व परसदा मस्तूरी निवासी अशोक सूर्यवंशी को गिरफ्तार कर लिया है।